यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल यूईएफए कप अनुमान

यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल यूईएफए कप अनुमान

time:2021-10-17 20:28:19 अगले 3-6 महीने में कोविड से पहले के स्तर पर पहुंच जाएगी कंपनियों की भर्ती : सर्वे Views:4591

रहस्यमय तत्व यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल यूईएफए कप अनुमान betway हेल्प ईमेल,fun88 प्रायोजक न्यूकैसल,lovebet 5 स्थान,lovebet इंडिया ऑफिस,खुले में प्यार,3 रील स्लॉट एक्सबॉक्स 360,बैकारेट बी बार,बैकारेट इत्र,बेस्ट ऑफ फाइव हॉकी,बीटीआई,कैसीनो लॉस एंजिल्स,शतरंज ईबुक,क्रिकेट Book.com,क्रिकेट जिम्बाब्वे बनाम बांग्लादेश,यूरोपीय कप नकद खाता खोलना,फुटबॉल सट्टेबाजी साइट रैंकिंग,गा क्रिकेट बल्ला,हैप्पी किसान लेली पार्ट्स,मुझे लवबेट चाहिए,जैकपॉट अमेज़न प्रश्नोत्तरी,ला स्लॉट्स रेडोंडो बीच,लाइव डीलिंग आधिकारिक वेबसाइट,लॉटरी हारने वाले,एम क्रिकेटगेटवे पीके,ऑनलाइन कैसीनो bet365,ऑनलाइन गेम अनब्लॉक,ऑनलाइन स्लॉट न्यूयॉर्क,पोकर 2048,पोकर एक्स कीबोर्ड,रूले पेआउट कैलकुलेटर,रमी विशेषज्ञ क्लब,रूसी रूले मजेदार है,स्लॉट जैमर,खेल कोटा,तीन पत्ती उच्चतम कार्ड,नवीनतम ऑनलाइन बोर्ड गेम,वर्चुअल क्रिकेट ग्राउंड,वाइल्डज़ लेवल अप बोनस,lovebetएप्लिकेशन,करीना रस,क्रिकेट हिंदी मीनिंग,जिआंगसू 11 में से 5 का चयन,पुलिस चेस,बरसात वाली शायरी,रमी हाउ तो प्ले,स्टेटस फब, .अगले 3-6 महीने में कोविड से पहले के स्तर पर पहुंच जाएगी कंपनियों की भर्ती : सर्वे

इस सर्वे में देशभर के 1,327 रिक्रूटर्स और कंसल्‍टेंट्स ने हिस्सा लिया.
मुंबई : बाजार में हालात सुधरने के साथ कंपनियां भी नए साल में रिकवरी को लेकर आशावान हैं. करीब 26 फीसदी रिक्रूटर्स (नियोक्ताओं) को उम्मीद है कि अगले 3-6 महीने में भर्तियां कोविड से पहले के स्तर पर पहुंच सकती हैं.

वहीं, 34 फीसदी नियोक्ताओं का मानना है कि इसमें छह महीने से एक साल तक का समय लग सकता है. एक सर्वे में यह निष्कर्ष सामने आया है. रोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के 'हायरिंग आउटलुक सर्वे' के अनुसार, नियोक्ता नए साल को लेकर आशावान लग रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : कितनी सेफ है आपकी जॉब? खतरों के इन 7 संकेतों के बारे में जान लें

कंपनी ने एक बयान में बताया कि इस सर्वे में देशभर के 1,327 रिक्रूटर्स और कंसल्‍टेंट्स ने हिस्सा लिया. नौकरी डॉट कॉम ने इसके अलावा अपने प्‍लेटफॉर्म पर उपलब्ध एक लाख से अधिक नियोक्ताओं के आंकड़ों का भी विश्लेषण किया.

कोविड से पहले का स्तर तय करने के लिए कंपनी ने जनवरी और फरवरी के रोजगार संबंधी आंकड़ों को आधार बनाया. सर्वेक्षण में पता चला कि मेडिकल/हेल्‍थकेयर, आईटी, बीपीओ/आईटीईएस जैसे उद्योगों पर कम प्रभाव पड़ा. लेकिन, खुदरा, हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल जैसे कुछ क्षेत्रों ने परिस्थिति का सामना करने में संघर्ष किया.

इसे भी पढ़ें : कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

इसमें कहा गया है कि 2020 की शुरुआत कुल मिलाकर सकारात्मक हुई. लेकिन, बाद में कोविड-19 ने इसे प्रभावित किया. लॉकडाउन के बाद इसमें ठहराव आया. पर, जून में अनलॉक की शुरुआत से ही रोजगार बाजार में सुधार भी होने लगा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

नौकरी डॉट कॉमहायरिंग आउटलुक सर्वेरोजगार बाजारकोविड से पहले का स्‍तरभर्ती

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business
Markets

Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business

8 mins read
Still taxiing: Akasa Air, Jet Airways continue to wait for green signal. When will they take off?
Aviation

Still taxiing: Akasa Air, Jet Airways continue to wait for green signal. When will they take off?

15 mins read

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.आईटी और रिटेल सेक्‍टर में मार्च में हुईंं ज्‍यादा भर्तियां : रिपोर्ट

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.निवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.लंबी अवधि में जमा के लिए पोस्ट ऑफिस का रुख कर रहे हैं निवेशक

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
क्रिकेट यॉर्कर किंग

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.

Android के लिए क्लासिक रम्मी डाउनलोड

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.

लॉटरी फैक्स 12 बजे

आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.

पोकर नाम

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता है

जी खेल समाचार आज

साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी