क्लासिक रम्मी कैश गेम

क्लासिक रम्मी कैश गेम

time:2021-10-17 21:31:23 बिजली क्षेत्र की मांग बढ़ने के बावजूद अगस्त में भारत का कोयला आयात घटा Views:4591

पेरिमैच यूक्रेन ऐप क्लासिक रम्मी कैश गेम betway जमा के तरीके,fun88 न्यूकैसल,lovebet 4/8,lovebet हिंदी,lovebet टा यूटी,1xbet लवबेट बेटविनर,बैकारेट एआई सॉफ्टवेयर,बैकारेट ऑनलाइन,सबसे अच्छा लाइव लाठी ब्रिटेन,किताब क्रिकेट जाल लंदन,कैसीनो केहलो,शतरंज एक संगीत,क्रिकेट बुक डीलर,क्रिकेट एक्स ऐप,यूरोपीय सट्टेबाजी कंपनी bet365,फ़ुटबॉल मंच के पीछे,जी शतरंज संकेतन,सुखी किसान परिवार,मैं कैसीनो अर्थ,जे स्पोर्ट्स,ला शतरंज अंग्रेजी में,लाइव कैसीनो वेबसाइटों,लॉटरी का खेल वीडियो,लूडो वर्ल्ड,ऑनलाइन नकद लाठी,ऑनलाइन गेम पबजी,संयुक्त राज्य अमेरिका में ऑनलाइन स्लॉट,रम्मी की बिंदु प्रणाली,पोकर युद्ध यूएसए,रूले लाइव विंसियर,रम्मी सर्कल मोबाइल ऐप,रम्मीकल्चर xl,स्लॉट्स एम्पायर नो डिपॉजिट कोड 2021,खेल समाचार आज हिंदी में,तीन पत्ती सपना,सबसे गर्म ऑनलाइन शतरंज और कार्ड रूम,आभासी कार्ड क्रिकेट,वाइल्डज़ कैसीनो,dangal डिबेट,करीना चोपड़ा,क्रिकेट भुज,चैस ऑनलाइन,परिवार quotes in hindi,बरसात बॉबी देओल की पिक्चर,रमी फ्री गेम,स्टेटस दबंग, .बिजली क्षेत्र की मांग बढ़ने के बावजूद अगस्त में भारत का कोयला आयात घटा

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) देश का कोयला आयात इस साल अगस्त में 2.7 प्रतिशत घटकर 1.52 करोड़ टन रह गया। देश के बिजली संयंत्रों में कोयला संकट के बीच आयात में यह गिरावट दर्ज हुई है।

एक साल पहले समान महीने में भारत ने 1.56 करोड़ टन कोयले का आयात किया था।

एमजंक्शन सर्विसेज के आंकड़ों के अनुसार, अगस्त में आयात 1.52 करोड़ टन रहा। यह अगस्त, 2020 की तुलना में 2.7 प्रतिशत कम है।

एमजंक्शन के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक विनय वर्मा ने कहा कि समुद्री मार्ग से आने वाले कोयले की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से आयात घटा है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा घरेलू कंपनियों ने आयात स्थानापन्न के लिए जो कदम उठाए हैं उससे भी कोयले का आयात नीचे आया है।

हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बिजली क्षेत्र की कोयले की मांग बढ़ी है।

अगस्त में कुल आयात में नॉन कोकिंग कोयले का हिस्सा 90.8 लाख टन रहा। यह पिछले साल अगस्त में 1.03 करोड़ टन था।

वहीं कोकिंग कोयले का आयात 31.7 लाख टन से 43.7 लाख टन पर पहुंच गया। देश के प्रमुख और गैर प्रमुख बंदरगाहों से अगस्त में कोयले का आयात जुलाई की तुलना में 6.71 प्रतिशत कम रहा है।

जुलाई में आयात 1.69 करोड़ टन था।

चालू वित्त वर्ष के पहले पांच माह अप्रैल-अगस्त में कोयले का आयात 9.24 करोड़ टन रहा है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 7.62 करोड़ की तुलना में यह 21.27 प्रतिशत अधिक है।

अप्रैल-अगस्त के दौरान नॉन कोकिंग कोयले का आयात 6.08 करोड़ टन रहा। इससे पिछले साल की समान अवधि में यह 5.12 करोड़ टन था।

इसी तरह इस अवधि में कोकिंग कोयले का आयात बढ़कर 2.21 करोड़ टन पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 1.43 करोड़ टन था।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.
Auto

Auto sales may plunge 30% this festive season. But don’t blindly point a finger at tepid demand.

12 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read
Air India sale: With the government exiting Maharaja’s cockpit, can Tatas pilot the airline to glory?
Aviation

Air India sale: With the government exiting Maharaja’s cockpit, can Tatas pilot the airline to glory?

14 mins read

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) ईरान द्वारा एक स्थानीय कंपनी को फारस की खाड़ी में स्थित फरजाद-बी गैस क्षेत्र का अधिकार दिए जाने के बावजूद ओएनजीसी विदेश लि. (ओवीएल) की अगुवाई वाले भारतीय गठजोड़ के पास इस क्षेत्र के विकास में अनुबंध के हिसाब से 30 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। फरवरी, 2020 में नेशनल ईरानियन ऑयल कंपनी (एनआईओसी) ने भारत को सूचित किया था कि वह फरजाद-बी के विकास का अनुबंध ईरान की एक कंपनी के साथ करने जा रही है। इस साल मई में उसने पेट्रोपार्स समूह को 1.78 अरब डॉलर का(योषिता सिंह) न्यूयॉर्क, 17 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला को नए सिरे से तैयार किया जा रहा है, जिससे भारत में सभी निवेशकों तथा उद्योग के हितधारकों के लिए काफी अवसर हैं। सीतारमण ने शनिवार को उद्योग मंडल फिक्की तथा अमेरिका-भारत रणनीतिक मंच द्वारा आयोजित गोलमेज में वैश्विक उद्योग जगत के दिग्गजों तथा निवेशकों से कहा, ‘‘वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला के पुन:नियोजन तथा भारत के स्पष्ट रुख अपनाने वाले नेतृत्व की वजह से सभी निवेशकों तथा उद्योग के हितधारकों के लिए हमारे देश में काफी अवसर हैं।’’ सीतारमण वाशिंगटन डीसी की अपनी यात्रा केई-श्रम पोर्टल पर असंगठित क्षेत्र के चार करोड़ श्रमिकों ने पंजीकरण कराया

कोलंबो, 17 अक्टूबर (भाषा) विदेशी मुद्रा संकट का सामना कर रहे श्रीलंका ने अपने कच्चे तेल की खरीद का भुगतान करने के लिए भारत से 50 करोड़ डॉलर की ऋण सुविधा मांगी है। श्रीलंका की तरफ से यह कदम ऊर्जा मंत्री उदय गम्मनपिला के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने चेतावनी देते कहा था कि देश में ईंधन की मौजूदा उपलब्धता की गारंटी अगले साल जनवरी तक ही दी जा सकती है। श्रीलंका की सरकारी तेल कंपनी सीलोन पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (सीपीसी) पर पहले से देश के दो प्रमुख सरकारी बैंकों-बैंक ऑफ़ सीलोन और पीपल्स बैंक का लगभगनयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) अमेरिका की स्वच्छ ऊर्जा तथा मोबिलिटी स्टार्टअप पावर ग्लोबल की योजना अगले दो से तीन साल के दौरान भारत में लिथियम आयन बैटरी विनिर्माण इकाई तथा बैटरी अदला-बदली ढांचा लगाने के लिए 2.5 करोड़ डॉलर या 185 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। कंपनी उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में एक गीगावॉट घंटे की क्षमता का बैटरी संयंत्र लगा रही है। इसके अलावा कंपनी का लक्ष्य भारत में आठ लाख परंपरागत तिपहिया को रेट्रोफिट कर उन्हें इलेक्ट्रिक संस्करण में बदलने की योजना है। कंपनी नेडिक्सन टेक्नोलॉजी ने 5जी मिलीमीटर स्मार्टफोन का उत्पादन शुरू किया

कोलंबो, 17 अक्टूबर (भाषा) विदेशी मुद्रा संकट का सामना कर रहे श्रीलंका ने अपने कच्चे तेल की खरीद का भुगतान करने के लिए भारत से 50 करोड़ डॉलर की ऋण सुविधा मांगी है। श्रीलंका की तरफ से यह कदम ऊर्जा मंत्री उदय गम्मनपिला के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने चेतावनी देते कहा था कि देश में ईंधन की मौजूदा उपलब्धता की गारंटी अगले साल जनवरी तक ही दी जा सकती है। श्रीलंका की सरकारी तेल कंपनी सीलोन पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (सीपीसी) पर पहले से देश के दो प्रमुख सरकारी बैंकों-बैंक ऑफ़ सीलोन और पीपल्स बैंक का लगभगनयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड कोषों (ईटीएफ) में सितंबर में 446 करोड़ रुपये का निवेश आया। देश में त्योहारी सीजन के मद्देनजर मजबूत मांग के चलते निवेश का यह प्रवाह अभी जारी रहने की उम्मीद है। इससे पिछले महीने गोल्ड ईटीएफ में 24 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश आया था। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई में गोल्ड ईटीएफ से निवेशकों ने शुद्ध रूप से 61.5 करोड़ रुपये की निकासी की थी। गोल्ड ईटीएफ श्रेणी में अबतक शुद्ध रूप से 3,515 करोड़ रुपये का निवेश मिला है। सिर्फ जुलाई ऐसाविंटर वैकेशन में अमेरिका, ब्रिटेन में पढ़ रहे छात्रों की घर वापसी हुई महंगी, चुकाना पड़ सकता है तिगुना हवाई किराया

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
खेल 4 यू

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) देश का सोने का आयात चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर, 2021 के दौरान कई गुना बढ़कर 24 अरब डॉलर पर पहुंच गया। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। देश में सोने की मांग बढ़ने से आयात बढ़ा है। सोने के आयात से चालू खाते के घाटे (कैड) पर असर पड़ता है। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में सोने का आयात 6.8 अरब डॉलर रहा था। इस साल सितंबर में सोने का आयात भी कई गुना बढ़कर 5.11 अरब डॉलर हो गया। सितंबर, 2021 में यह 60.14 करोड़

betway शून्य शर्त

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) वाहन ईंधन कीमतों में रविवार को फिर बढ़ोतरी हुई। पेट्रोल और डीजल दोनों के दाम 35-35 पैसे प्रति लीटर और बढ़ाए गए हैं। इससे अब वाहन ईंधन के दाम विमान ईंधन (एटीएफ) से एक-तिहाई ज्यादा हो गए हैं। साथ ही देशभर में पेट्रोल और डीजल के दाम अब नयी ऊंचाई पर पहुंच गए हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार चौथे दिन 35 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलयम विपणन कंपनियों द्वारा जारी मूल्य अधिसूचना के अनुसार, पेट्रोल और

बेस्ट फाइव वॉच कलेक्शन

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) रूट मोबाइल के शेयरधारकों ने प्रतिभूतियों के जरिये 2,000 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी दे दी है। उपक्रम संचार सेवाप्रदाता कंपनी के शेयरधारकों ने इसके साथ ही कंपनी में विदेशी पोर्टफोलियो निवेश की सीमा को बढ़ाने की भी अनुमति दी है। कंपनी की ओर से शनिवार को दाखिल रिपोर्ट के अनुसार उसके 95 प्रतिशत शेयरधारकों ने इस प्रक्रिया में भाग लिया और इनमें से अधिकांश ने इक्विटी या इसी तरह की अन्य प्रतिभूतियों के जरिये 2,000 करोड़ रुपये जुटाने की मंजूरी दी। हालांकि, इस प्रक्रिया में भाग लेने वाले 24.45 प्रतिशत सार्वजनिक संस्थान शेयरधारकों ने

फुटबॉल यूट्यूब

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह कंपनियों के तिमाही नतीजों तथा वैश्विक संकेतकों से तय होगी। विश्लेषकों ने यह राय जताई है। इस समय शेयर बाजार रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं। सैमको सिक्योरिटीज में इक्विटी शोध प्रमुख येशा शाह ने कहा, ‘‘कंपनियों के तिमाही नतीजे इस सप्ताह शेयर बाजारों का रुख तय करेंगे। इस सप्ताह सभी की निगाह इनपर रहेगी। इसके अलावा दलाल स्ट्रीट की निगाह कंपनियों के प्रबंधन की भविष्य की आमदनी के अनुमान पर रहेगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी उम्मीद है कि कंपनियां पिछली तिमाही से शुरू हुई अपनी रफ्तार को दूसरी तिमाही

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) ई-श्रम पोर्टल पर श्रमिकों का पंजीकरण चार करोड़ को पार कर गया है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी। यह पोर्टल शुरू हुए दो माह से भी कम का समय हुआ है। श्रम मंत्रालय ने बयान में कहा कि विभिन्न क्षेत्रों मसलन निर्माण, कपड़ा, विनिर्माण, मत्स्य पालन, सड़कों पर रेहड़ी लगाने वाले, घर का कामकाज करने वाले, कृषि और संबद्ध क्षेत्रों से जुड़े लोग इस पोर्टल पर पंजीकरण करा रहे हैं। बयान में कहा गया है कि कई क्षेत्रों के प्रवासी मजदूरों ने भी पोर्टल पर पंजीकरण में उत्साह

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
फुटबॉल लाइव स्कोर

(अभिषेक सोनकर) नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) शीर्ष उद्योग निकाय एमआईएमए के मुताबिक ‘‘अगर कोयले की कमी बनी रही तो’’ घरेलू स्पॉन्ज आयरन उद्योग दिसंबर तिमाही में नकारात्मक वृद्धि दर्ज कर सकता है।' स्पॉन्ज आयरन विनिर्माता संघ (एसआईएमए) के कार्यकारी निदेशक दीपेंद्र काशिवा ने कहा कि मौजूदा कोयला संकट के बीच जुलाई-सितंबर 2021 के दौरान भारत के स्पॉन्ज आयरन उत्पादन में इससे पिछली तिमाही के मुकाबले 60 प्रतिशत तक गिरावट हो सकती है। जेपीसी के आंकड़ों के मुताबिक जनवरी-मार्च 2021 के मुकाबले अप्रैल-जून 2021 में स्पॉन्ज आयरन उत्पादन 70 प्रतिशत बढ़ा था। उन्होंने बिना कोई ब्योरा दिए कहा कि चालू

ऑनलाइन कैसीनो जोंडर खाता

(अभिषेक सोनकर) नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर (भाषा) शीर्ष उद्योग निकाय एमआईएमए के मुताबिक ‘‘अगर कोयले की कमी बनी रही तो’’ घरेलू स्पॉन्ज आयरन उद्योग दिसंबर तिमाही में नकारात्मक वृद्धि दर्ज कर सकता है।' स्पॉन्ज आयरन विनिर्माता संघ (एसआईएमए) के कार्यकारी निदेशक दीपेंद्र काशिवा ने कहा कि मौजूदा कोयला संकट के बीच जुलाई-सितंबर 2021 के दौरान भारत के स्पॉन्ज आयरन उत्पादन में इससे पिछली तिमाही के मुकाबले 60 प्रतिशत तक गिरावट हो सकती है। जेपीसी के आंकड़ों के मुताबिक जनवरी-मार्च 2021 के मुकाबले अप्रैल-जून 2021 में स्पॉन्ज आयरन उत्पादन 70 प्रतिशत बढ़ा था। उन्होंने बिना कोई ब्योरा दिए कहा कि चालू