6क्रिकेट प्रदाता

6क्रिकेट प्रदाता

time:2021-10-27 09:17:13 कारें होंगी महंगी, जानिए कितनी बढ़ेंगी कीमतें Views:4591

जंगल रम्मी पैसे निकासी 6क्रिकेट प्रदाता 10cric बेटिंग ऐप,betway अपडेट,लियोवेगैस इंडिया रिव्यू,lovebet एपीके डाउनलोड,lovebet लोगो,lovebet w88 m88,एक लॉटरी नंबर,बैकरेट क्रैकिंग सॉफ्टवेयर,नकद देने के लिए बैकरेट साइन अप करें,सट्टेबाजी करियर सह,कैसीनो 360 नो डिपॉजिट बोनस,कैसीनो रोयाले isaidub,क्लार्क ऑनलाइन,क्रिकेट जीके हिंदी में,डीएच फुटबॉल जर्सी,यूरोपीय कप अनुसूची वॉलपेपर,फ़ुटबॉल इंस्टेंट ऑड्स इंडेक्स,उत्पत्ति कैसीनो ऐप डाउनलोड,एचडी फुटबॉल वॉलपेपर,आईपीएल ऐप डाउनलोड,जैकपॉट क्या होता है,लाइव लाठी डीलर यूएसए,लाइव रूले पोकरस्टार,लॉटरी गीत,मल्टीप्ला ए 8 लवबेट,ऑनलाइन कैसीनो ओहने एनेल्डुंग,ऑनलाइन पोकर ऐप्स,पी पोकरस्टार,पोकर दा तवोलो,शायद सबसे अच्छी फुटबॉल वेबसाइट,शाही लड़ाई,रम्मी ऑफ़लाइन,स्लॉट मशीन ऐप,स्लॉट यूट्यूब आज,स्पोर्ट्सबुक ऐप,टेक्सास होल्डम चीट शीट,सबसे छोटा फुटबॉल सट्टेबाजी नेटवर्क,जुआ नेटवर्क क्या हैं,विश्व गेमिंग,इलेक्ट्रॉनिक खेल channel,कैसीनो के खेल http,गुवाहाटी,जोकर रिंगटोन,फुटबॉल ड्राइंग,बेटा टीवी,लॉटरी उदयपुर,स्पोर्ट्स ट्रेनिंग इन फिजिकल एजुकेशन .कारें होंगी महंगी, जानिए कितनी बढ़ेंगी कीमतें

टाटा मोटर्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी कंपनियां पहले ही अप्रैल से दाम बढ़ाने के संकेत दे चुकी हैं.
कार के दाम जल्‍द और बढ़ सकते हैं. इनमें 2-3 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है. कार बनाने वाली कंपनियां इस बारे में विचार कर रही हैं. कच्‍चे माल की लगातार बढ़ती कीमतों और ऑटो पार्ट्स की किल्‍लत के चलते वे इसके लिए मजबूर हैं. अगर ऐसा हुआ तो हाल की कुछ तिमाहियों में यह लगातार तीसरी बार होगा जब गाड़‍ियों के दाम बढ़ेंगे. पिछली बढ़ोतरी के बाद कारें करीब 4-6 फीसदी और टू-व्‍हीलर्स 8-10 फीसदी महंगे हो चुके हैं.

पिछले तीन महीनों में वाहनों को बनाने में लगने वाले कच्‍चे माल की कीमतें बढ़ी हैं. इससे वाहनों के दाम 10-15 फीसदी तक बढ़े हैं. इन्‍हें बनाने में स्‍टील, एलुमिनियम, रबर से लेकर कीमती धातुओं तक का इस्‍तेमाल होता है. पॉलीमर से लेकर रबर तक के भाव 10-60 फीसदी चढ़े हैं. सेमीकंडक्‍टर को लेकर डिमांड और सप्‍लाई में विसंगति के कारण भी इनपुस्‍ट कॉस्‍ट बढ़ी है.

इसे भी पढ़ें : टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसी हो सकती है महंगी, यह है वजह

तीन कंपनियों ने बताया कि चिप मैन्‍यूफैक्‍चरर्स को भारतीय ऑटो ओईएम (ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्‍यूफैक्‍चरर्स) से कीमत बढ़ाने के अनुरोध मिलने लगे हैं. सप्लाई की शॉर्टैज और मांग बढ़ने से 2021 में चिप की कीमतें 4-6 फीसदी तक बढ़ सकती हैं. वहीं, सप्‍लाई की किल्‍लत अगले 2-3 तिमाहियों तक बनी रह सकती है.

टाटा मोटर्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी कंपनियां पहले ही अप्रैल से दाम बढ़ाने के संकेत दे चुकी हैं. इन कंपनियों ने पिछले 6 महीनों में दो बार दाम बढ़ाए हैं. आयशर मोटर के स्‍वामित्‍व वाली रॉयल एनफील्‍ड ने भी कीमतों में 3-5 फीसदी बढ़ोतरी का अंदेशा जताया है. जबकि 2021 की शुरुआत में पहले ही यह इतनी बढ़ोतरी कर चुकी है.

इसे भी पढ़ें : फास्‍टैग नहीं लिया है? परेशान न हों, कुछ ही मिनट में गाड़ी में लग जाएगा

क्रेडिट सुईस के अनुसार, यह सही है कि मारुति सुजुकी ने प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले सबसे बाद में दाम बढ़ाने का एलान किया. लेकिन, 18 जनवरी से प्रभावी सभी मॉडलों पर 34,000 रुपये तक की बढ़ोतरी 2.7 फीसदी के बराबर थी. यह पिछले पांच साल में कंपनी की ओर से की गई सर्वाधिक बढ़त है.

महिंद्रा एंड महिंद्रा के ईडी राजेश जेजुरिकर ने आगाह किया था कि अगर इनपुट कॉस्‍ट में नरमी नहीं आई तो वित्‍त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में मजबूरन दाम बढ़ाने पड़ेंगे. रॉयल एनफील्‍ड के एमडी विनोद दसारी ने कहा कि कंपनी जनवरी में पहले ही दाम बढ़ा चुकी है. अगले वित्‍त वर्ष से दोबारा वह कीमतों में करीब 3-5 फीसदी बढ़ोतरी के बारे में सोच रही है.

सबसे बड़ी समस्‍या स्‍टील की कीमतों में जोरदार तेजी है. पिछले चार महीनों में इसके दाम 36,000 रुपये प्रति टन से उलछकर 58,000 रुपये प्रति टन पर पहुंच गए हैं. वहीं, पेट्रोल-डीजल, हाईवे टोल और टायर के दाम बढ़ने से लॉजिस्टिक्‍स और सप्‍लाई की कॉस्‍ट बढ़ी है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

कार की कीमतेंबढ़ेंगे दामइनपुट कॉस्‍टकच्‍चा मालऑटो पार्ट्स

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

रीइंश्‍योरेंस कंपनियों के रेट जीवन प्रत्‍याशा यानी लाइफ एक्‍सपेक्‍टेंसी पर आधारित होते हैं. यह एक लंबी अवधि का ट्रेंड होता है.मुंबई, 26 अक्टूबर (भाषा) रिजर्व बैंक ने मंगलवार को कहा कि उसने महाराष्ट्र के वसई विकास सहकारी बैंक पर कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने पर 90 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। इनमें ऋणों का डूबे कर्ज (एनपीए) के रूप में वर्गीकरण करना और अन्य निर्देश शामिल हैं। केंद्रीय बैंक ने एक बयान में कहा कि बैंक ने उधार खातों में धन का अंतिम उपयोग सुनिश्चित करने और गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों के रूप में ऋण के वर्गीकरण के उसके निर्देशों का पालन नहीं किया है। बैंक ने आरबीआई के उस विशेष निर्देश काकार खरीदने जा रहे हैं? 7 लाख रुपये तक के बजट में ये हैं शानदार ऑप्‍शन

रीइंश्‍योरेंस कंपनियों के रेट जीवन प्रत्‍याशा यानी लाइफ एक्‍सपेक्‍टेंसी पर आधारित होते हैं. यह एक लंबी अवधि का ट्रेंड होता है.(अदिति खन्ना) लंदन, 26 अक्टूबर (भाषा) भारत पिछले पांच वर्षों में जलवायु प्रौद्योगिकी निवेश के मामले में शीर्ष 10 देशों की सूची में नौवें स्थान पर है। भारतीय जलवायु प्रौद्योगिकी कंपनियों ने 2016 से 2021 तक उद्यम पूंजी (वीसी) निवेश के रूप में एक अरब डॉलर प्राप्त किए हैं। मंगलवार को लंदन में जारी एक नयी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई। ‘‘लंदन एंड पार्टनर्स और डीलरूम.सीओ’’ द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट 'पांच साल: पेरिस समझौते के बाद से वैश्विक जलवायु प्रौद्योगिकी निवेश के रुझान', में पेरिस में पिछले संयुक्त राष्ट्रवैलेंटाइन डे : आपके साथी का दिल जीत लेंगे ये उपहार

क्‍या आप 2021 में कार खरीदने की योजना बना रहे हैं? अगर हां तो कारदेखो डॉट कॉम के साथ मिलकर हम यहां आपको कुछ शानदार विकल्‍पों के बारे में बता रहे हैं. कार के ये मॉडल इस साल लॉन्‍च हो सकते हैं. हमने यहां 7 लाख रुपये तक की रेंज में सबसे अच्‍छी कारों को चुना है.पिछले तीन महीनों में वाहनों को बनाने में लगने वाले कच्‍चे माल की कीमतें बढ़ी हैं. इससे वाहनों के दाम 10-15 फीसदी तक बढ़े हैं.भारत जलवायु प्रौद्योगिकी निवेश के मामले में दुनिया के शीर्ष 10 देशों में शामिल: रिपोर्ट

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
जैकपॉट ऑनलाइन मूवी

मुंबई, 26 अक्टूबर (भाषा) चिप की कमी से चालू वित्त वर्ष में यात्री वाहनों की बिक्री में वृद्धि घटकर 11 से 13 प्रतिशत रहने का अनुमान है। पहले इसमें 16-17 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया गया था। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्पादन में कमी के बीच इंतजार की अवधि बढ़ने के कारण उद्योग में सुधार की रफ्तार धीमी हो रही है। क्रिसिल की रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है। क्रिसिल ने बाजार में 71 प्रतिशत की सामूहिक हिस्सेदारी रखने वाली शीर्ष तीन यात्री वाहन कंपनियों के विश्लेषण के आधार

रम्मी पैरा 8 जुगाडोरेस

क्या कभी आपने सोचा है कि वैलेंटाइन डे पर पुरुष ज्यादा खर्च करते हैं या महिलाएं ? इस सवाल को लेकर हम आपकी उलझन खत्म कर देते हैं. पुरुष वैलेंटाइन डे सेलिब्रेट करने के लिए औसतन 4000 रुपये खर्च करते हैं. वहीं, महिलाएं इस मौके पर 2000 रुपये खर्च करती हैं.

lovebet शिकायत संख्या

कंपनी ने बताया है कि कच्चे माल की कीमत बढ़ने से लागत में इजाफा हुआ है. उसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है.

वाइल्डज़ स्वागत बोनस

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) जिंदल स्टेनलेस लि. (जेएसएल) का सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ पांच गुना बढ़कर 411.62 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। आय बढ़ने से कंपनी का मुनाफा बढ़ा है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 80.64 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय बढ़कर 5,041.26 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 3,324.15 करोड़ रुपये थीद्य। तिमाही के दौरान कंपनी का कुल खर्च

कैसीनो हो

योनो सुपर सेविंग डेज का पहला चरण फरवरी में संपन्‍न हुआ था. इस दौरान भी ग्राहकों को छूट पर 4 दिन के लिए खरीदारी का मौका मिला था. यह 4 फरवरी से 7 फरवरी तक चला था.

संबंधित जानकारी
पचिनको में स्लॉट मशीन

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) ने बाजार नियामक सेबी के आदेश पर आंशिक रूप से रोक लगाकर कोटक महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी को राहत दी है। सेबी ने अपने आदेश में कोटक महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी को यूनिटधारकों से लिये गये निवेश प्रबंधन और परामर्श शुल्क का एक हिस्सा लौटाने को कहा था। इसके अलावा, अपीलीय न्यायाधिकरण ने संपत्ति प्रबंधन कंपनी (एएमसी) से चार सप्ताह के भीतर ब्याज वाले खाते में 20 लाख रुपये जमा करने को कहा है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने अगस्त में एएमसी से छह ‘फिक्स्ड मैच्यूरिटी प्लान’ (एफएमपी) योजनाओं

गरम जानकारी
रूले फॉर्मूला सटीक संख्या की भविष्यवाणी करता है

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) देश में कई साइबर सुरक्षा संगठन हैं लेकिन ऑनलाइन क्षेत्र में सुरक्षा के लिए कोई जवाबदेह केंद्रीय निकाय नहीं है। राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक (एनसीएससी) राजेश पंत ने मंगलवार को यह कहा। उन्होंने यह भी कहा कि प्रस्तावित राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति सुरक्षा व्यवस्था के तहत इस अंतर को दूर करेगी। पंत ने कहा कि भारत में उत्कृष्ट संगठन हैं और पिछले एक साल में देश में साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में ‘शानदार’ बदलाव हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘कुल मिलाकर एक व्यवस्था मौजूद है लेकिन संचालन से जुड़े नियमों