ऑनलाइन स्लॉट यूट्यूब

ऑनलाइन स्लॉट यूट्यूब

time:2021-10-27 21:37:51 अच्‍छे इंक्रीमेंट के लिए अभी दो साल करना पड़ेगा इंतजार : एक्‍सपर्ट्स Views:4591

लॉटरी कल रात 8 बजे ऑनलाइन स्लॉट यूट्यूब betway गेम ऐप,fun88 रेफरल कोड,lovebet 5 यूरो कोई जमा नहीं,lovebet इलिनोइस,lovebet थ,3 रील स्लॉट jio,Baccarat परीक्षण के लिए आवेदन करें,बैकारेट पी,फाइटिंग के लिए बेस्ट ऑफ फाइव,सट्टेबाज की सिफारिश,कैसीनो शेर,शतरंज,क्रिकेट बुक माय शो,क्रिकेट यो यो टेस्ट,यूरोपीय कप एशियाई प्लेट मकाऊ प्लेट,फ़ुटबॉल बेटिंग ऑड्स कमेंट,जी स्पोर्ट्स इंदिरापुरम,सुखी किसान कहलाता है,मैं पोकर हैंड,जैकेट ब्लाउज,ला लीगा स्टैंडिंग,लाइव डीलर बैकरेट,लॉटरी खोबोर,एम कैसीनो बुफे,ऑनलाइन कैसीनो और सट्टेबाजी,ऑनलाइन गेम मंदिर रन,ऑनलाइन स्लॉट सूची,ओकेर १० नियम,पोकर काम मशीन,रूले संख्या भविष्यवाणी,रमी डोमेन APK,रश लिवार्स फिशिंग लेक,स्लॉट gfg,स्पोर्ट्स पैंट,तीन पत्ती सोना APK,नवीनतम फुटबॉल खेल नियम,आभासी क्रिकेट प्रयोग,वाइल्डज़ अधिक गीत प्राप्त करें,lottery पंजाब,करीना फ्री फायर रिडीम कोड,क्रिकेट शब्दावली,छोटे लॉटरी संगबाद,पावर बैंक,बरसात यूट्यूब,रमी लूट,स्टेटस नवरात्रि, .अच्‍छे इंक्रीमेंट के लिए अभी दो साल करना पड़ेगा इंतजार : एक्‍सपर्ट्स

इस साल इंक्रीमेंट घटकर 3.6 फीसदी पर पहुंच गए. 2019 में यह आंकड़ा 8.6 फीसदी रहा था.
अच्‍छी वेतनवृद्धि के लिए आपको अभी कम से कम दो साल इंतजार करना पड़ सकता है. 2021 और 2022 में सिंगल डिजिट में इंक्रीमेंट रहने के आसार हैं. इस मोर्चे पर स्थितियों के सामान्‍य होने में कुछ वक्‍त लग सकता है. जानकारों ने इस तरह का अनुमान जाहिर किया है.

कंपनसेशन एक्‍सपर्ट्स के अनुसार, 2022 से पहले इंक्रीमेंट के सामान्‍य होने के आसार नहीं हैं. डेलॉयट इंडिया वर्कफोर्स और इंक्रीमेंट ट्रेंड्स सर्वे के मुताबिक, इस साल इंक्रीमेंट या वेतन में बढ़ोतरी घटकर 3.6 फीसदी पर पहुंच गई. 2019 में यह 8.6 फीसदी रही थी. वेतनवृद्धि में भले अभी समय लगे. लेकिन, कंपनियां मेडिकल, इंश्‍योरेंस और होम ऑफिस के लिए इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर इत्‍यादि मुहैया कराकर नए तरह के बेनिफिट दे रही हैं.

एयॉन कंसल्‍टिंग इंडिया में सीईओ (परफॉर्मेंस रिवॉर्ड्स एंड ऑर्गनाइजेशन एफेक्‍टिवनेस) नितिन सेठी ने कहा, ''जहां तक विभिन्‍न सेक्‍टरों में वेतनवृद्धि का सवाल है तो शेष 2020 और 2021 सुस्‍त रहने वाले हैं.'' उन्‍होंने कहा कि 2022 से आर्थिक गतिविधियां दोबारा रफ्तार पकड़ सकती हैं. इससे बोनस और इंसेंटिव का दौर फिर शुरू हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें : एसबीआई इस साल 14,000 लोगों की भर्ती करेगा

सैलरी कब अपने स्‍तर पर लौटेंगी, यह आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने पर निर्भर करेगा. डेलॉयट के सर्वे में शामिल 75 फीसदी संस्‍थानों ने मौजूदा अनिश्चितता को देखते हुए वेतनवृद्धि में किसी तरह के अनुमान जाहिर करने से इंकार कर दिया.

इस साल नियमित वेतनवृद्धि करने वाली कंपनियां तीन तिमाहियों के असंतोषजनक प्रदर्शन के साथ अगले वित्‍त वर्ष में प्रवेश करेंगी. ये वेतनवृद्धि को लेकर ज्‍यादा मंथन करेंगी.

इसे भी पढ़ें : आईटी पेशेवरों के लिए खुशखबरी, कंपनियों में एक लाख से ज्‍यादा नौकरी के मौके

डेलॉयट इंडिया में पार्टनर आनंदोरूप घोष ने कहा कि इस साल जिन कंपनियों ने इंक्रीमेंट नहीं दिया है, वे भी इस मोर्चे पर कदम उठाने में देर कर सकती हैं. वे अपने कोर बिजनेस के प्रदर्शन में सुधार की साफ तस्‍वीर आने के बाद ही इस बारे में कोई फैसला लेंगी.

master5
master6

बढ़ सकते हैं बेनिफिट
अगले दो साल में कंपनियों का फोकस कंपनसेशन के बजाय बेनिफिट बढ़ाने पर हो सकता है. ज्‍यादातर कंपनियों के लिए वर्क-फ्रॉम होम अब 'न्‍यू नॉर्मल' बन गया है. ऐसे में ब्रॉडबैंड, फर्नीचर, स्‍टेशनरी इत्‍यादि के लिए अलाउंस के तौर पर बेनिफिट बढ़ सकते हैं. इन्‍हें कंपनसेशन पैकेज का हिस्‍सा बनाया जा सकता है.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

इंक्रीमेंटडेलॉयल इंडियासैलरीएक्‍सपर्टसर्वेवेतनवृद्ध‍ि

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने बुधवार को उद्यमिता को बढ़ावा देने, आर्थिक वृद्धि को गति देने के उद्देश्य से घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहन देने लिए राष्ट्रीय स्तर के जागरूकता कार्यक्रम का उद्घाटन किया। कार्यक्रम - ‘संभव’ - सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्यम मंत्रालय द्वारा आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी छात्रों से हमारे प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लेने और उद्यमी बनने की अपील करता हूं।’’ राणे ने कहा कि सरकार सकल घरेलू उत्पादबीपीसीएल में डेलॉयट इंडिया के सहयोग से डिजिटल बदलाव हुआ तेज

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) बिल गेट्स का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है। 28 अक्टूबर, 1955 को वाशिंगटन में जन्मे बिल ने वर्ष 1975 में पाल एलन के साथ मिलकर साफ्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की। तब कौन जानता था कि यह देखते ही देखते दुनिया की सबसे बड़ी साफ्टवेयर कंपनी बन जाएगी और गेट्स पर्सनल कंप्यूटर के क्षेत्र में क्रान्ति के अग्रदूत बनेंगे। उनकी तरक्की की रफ्तार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 32 साल पूरे होने के पहले ही 1987 में उनका नाम अरबपतियों की फ़ोर्ब्स की सूची में आ गया और कईनयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) ने हाल ही में हुई एक धोखाधड़ी का हवाला देते हुए ग्राहकों को साइबर धोखाधड़ी के बढ़ते मामलों को लेकर आगाह किया है। इस मामले में एक व्यक्ति ने खुद को कंपनी का अधिकारी बताकर और केवाईसी फॉर्म को अपडेट करने की आड़ में एक उपयोगकर्ता को धोखा दिया। उसने ग्राहक से बैंक विवरण हासिल करके उसके बैंक खाते से बड़ी राशि निकाल ली। ग्राहकों को भेजे एक ईमेल संदेश में, एयरटेल के सीईओ गोपाल विट्टल ने उपयोगकर्ताओं से28 अक्टूबर : माइक्रोसाफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स का जन्मदिन

कर्मचारियों की छंटनी की खबर ऐसे समय आई जब एक महीने पहले ही हरदयाल प्रसाद ने कंपनी में चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव का पद संभाला है. उन्‍होंने अंतरिम प्रमुख नीरज व्‍यास की जगह ली है.एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.28 अक्टूबर : माइक्रोसाफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स का जन्मदिन

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
21 बजे zi

पहले चरण में 31,277 को जिलों का आवंटन हो गया है. इसमें से 15,933 टीचर सामान्‍य कैटेगरी के हैं. 8,513 अन्‍य पिछड़ा वर्ग, 6,615 अनुसूचित जाति और 215 अनुसूचित जनजाति के हैं.

बैकरेट सापेक्ष रणनीति

जून में गिरावट के बाद पिछले दो महीनों में एक्टिव जॉब ओपनिंग्‍स में 74 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है. कंपनियों को कोविड की महामारी खत्‍म होने के बाद प्रतिस्‍पर्धा बढ़ने की उम्‍मीद है. वे इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहती हैं.

कैसीनो आरआई

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकनॉमिक जोन लिमिटेड (एपीएसईजेड) ने बुधवार को बताया कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 30.51 प्रतिशत घटकर 968.34 करोड़ रुपये रह गया। एक साल पहले इसी अवधि में कंपनी का शुद्ध लाभ 1,393.69 करोड़ रुपये था। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि जुलाई-सितंबर तिमाही में उसकी कुल एकीकृत आय बढ़कर 4,066.78 करोड़ रुपये हो गई, जो एक साल पहले की समान अवधि में 3,423.16 करोड़ रुपये थी। समीक्षाधीन तिमाही के दौरान कंपनी का कुल व्यय बढ़कर 2,509.81 करोड़ रुपये हो गया,

पी पोकर क्रॉसवर्ड सुराग

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने बुधवार को उद्यमिता को बढ़ावा देने, आर्थिक वृद्धि को गति देने के उद्देश्य से घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहन देने लिए राष्ट्रीय स्तर के जागरूकता कार्यक्रम का उद्घाटन किया। कार्यक्रम - ‘संभव’ - सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्यम मंत्रालय द्वारा आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी छात्रों से हमारे प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लेने और उद्यमी बनने की अपील करता हूं।’’ राणे ने कहा कि सरकार सकल घरेलू उत्पाद

प्वाइंट रम्मी कैसे खेलें

कई ग्राहक मोरेटोरियम और उससे पड़ने वाले असर को नहीं समझते हैं. इसे देखते हुए कलेक्‍शन में बाधा आई है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
लाइव रूले माल्टा

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) निजीकरण के लिए तैयार भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने एक महत्वाकांक्षी डिजिटल बदलाव परियोजना को लागू करने के लिए डेलॉयट इंडिया को चुना है, जिसका उद्देश्य सभी ‘टचपॉइंट’ पर ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाना है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि ‘परियोजना अनुभव’ को ग्राहकों और दूसरे हितधारकों की अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। बीपीसीएल ने ग्राहकों के लिए विभिन्न डिजिटल पहल को डिजाइन करने और कार्यान्वित करने में मदद के लिए डेलॉयट टच तोहमात्सु इंडिया एलएलपी (डेलॉयट इंडिया) को अपना प्रौद्योगिकी भागीदार चुना था। कंपनी ने कहा कि ये विभिन्न

lovebet-4

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) निजीकरण के लिए तैयार भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने एक महत्वाकांक्षी डिजिटल बदलाव परियोजना को लागू करने के लिए डेलॉयट इंडिया को चुना है, जिसका उद्देश्य सभी ‘टचपॉइंट’ पर ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाना है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि ‘परियोजना अनुभव’ को ग्राहकों और दूसरे हितधारकों की अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। बीपीसीएल ने ग्राहकों के लिए विभिन्न डिजिटल पहल को डिजाइन करने और कार्यान्वित करने में मदद के लिए डेलॉयट टच तोहमात्सु इंडिया एलएलपी (डेलॉयट इंडिया) को अपना प्रौद्योगिकी भागीदार चुना था। कंपनी ने कहा कि ये विभिन्न